प्रेरणा या मोटिवेशन क्या है? | what is motivation in Hindi

प्रेरणा या मोटिवेशन क्या है

प्रेरणा क्या है? (what is Motivation?)

प्रेरणा (Motivation) वह प्रक्रिया है जो लक्ष्य के सम्बन्धित व्यवहारों को शुरू करने, उनका मार्गदर्शन करना और हमारे लक्ष्य को बनाए रखती है।


यह वही है जो आपके काम करने का कारण बनता है, चाहे प्यास कम करने के लिए एक गिलास पानी मिल रहा हो या ज्ञान प्राप्त करने के लिए एक किताब पढ़ना हो।


प्रेरणा (Motivation) में जैविक, भावनात्मक, सामाजिक और संज्ञानात्मक बल आदि शामिल हैं जो आपके व्यवहार को सक्रिय करते हैं।


रोजमर्रा के उपयोग में, "प्रेरणा" शब्द का प्रयोग अक्सर यह वर्णन करने के लिए किया जाता है कि कोई व्यक्ति किसी काम को क्यों करता है। यह मानवीय क्रियाओं के पीछे की प्रेरक शक्ति है।


प्रेरणा (Motivation) केवल उन कारणों को संदर्भित नहीं करती है जो आपके व्यवहार को सक्रिय करते हैं। इसमें वे कारण भी शामिल हैं जो इन लक्ष्य-निर्देशित कामों को निर्देशित और बनाए रखते हैं।


परिणामस्वरूप, हमें अक्सर उन कारणों का अनुमान लगाना पड़ता है कि लोग उन चीजों को क्यों करते हैं जो वे देखने योग्य व्यवहार के आधार पर करते हैं।


हम किसी काम को क्यों करते हैं इसके लिए प्रेरणाओं के पीछे वास्तव में क्या है? मनोवैज्ञानिकों ने प्रेरणा के विभिन्न सिद्धांतों का प्रस्ताव दिया है, जिसमें ड्राइव सिद्धांत, वृत्ति सिद्धांत और मानवतावादी सिद्धांत (जैसे मास्लो की जरूरतों का पदानुक्रम) आदि शामिल हैं। वास्तविकता यह है कि कई अलग-अलग ताकतें हैं जो हमारी प्रेरणाओं को निर्देशित करती हैं।


प्रेरणा के प्रकार (Types of Motivation)

कई प्रकार की प्रेरणा को अक्सर बाहरी या आंतरिक होने के रूप में वर्णन किया जाता है:


बाहरी प्रेरणा (Extrinsic motivations)

बाहरी मोटिवेशन वो है जो किसी व्यक्ति के बाहर से उत्पन्न होता हैं और इसमें अक्सर पैसा, सामाजिक मान्यता, या प्रशंसा जैसे पुरस्कार शामिल होते हैं।


आंतरिक प्रेरणा (Intrinsic motivations)

आंतरिक मोटिवेशन वो है जो किसी व्यक्ति के भीतर से उत्पन्न होता हैं, जैसे कि किसी समस्या को हल करने की व्यक्तिगत संतुष्टि के लिए एक जटिल पहेली करना।


प्रेरणा के उपयोग (Uses of Motivation)

प्रेरणा (Motivation) के लिए कई अलग-अलग उपयोग हैं। यह सभी मानव व्यवहार के लिए एक मार्गदर्शक शक्ति के रूप में काम करता है, लेकिन यह समझना कि यह कैसे काम करता है और इसे प्रभावित करने वाले कई कारण क्यों महत्वपूर्ण हैं?


प्रेरणा को समझने की महत्वपूर्ण बातें (Important things to understand about Motivation):-

  • अपने लक्ष्यों की दिशा में काम करते हुए लोगों की दक्षता में सुधार करने में मदद करना।
  • लोगों को अपने जीवन में अधिक नियंत्रण महसूस करने में मदद करना।
  • लोगों को एक्शन लेने में मदद करना।
  • जोखिम लेने और दुर्भावनापूर्ण व्यवहार से बचने के लिए लोगों की मदद करना।
  • सबकी भलाई और खुशी में सुधार करना।
  • लोगों को स्वास्थ्य-उन्मुख व्यवहार के लिए प्रोत्साहित करना।

मोटिवेशन का इतिहास (History of Motivation)

वे कौन सी चीजें हैं जो वास्तव में हमें किसी काम को करने के लिए प्रेरित करती हैं? पूरे इतिहास में, मनोवैज्ञानिकों ने यह समझाने के लिए कई सिद्धांतों का प्रस्ताव दिया है कि मानव व्यवहार को क्या प्रेरित (Motivate) करता है। प्रेरणा के कुछ प्रमुख सिद्धांत नीचे दिए गए हैं।


सहज ज्ञान

प्रेरणा के वृत्ति सिद्धांत से पता चलता है कि व्यवहार वृत्ति से प्रेरित होते हैं, जो व्यवहार के निश्चित और जन्मजात पैटर्न होते हैं।


विलियम जेम्स, सिगमंड फ्रायड और विलियम मैकडॉगल सहित कई मनोवैज्ञानिकों ने कई बेसिक मानव ड्राइव प्रस्तावित किए हैं जो व्यवहार को प्रेरित करते हैं।


इस तरह की प्रवृत्ति में जैविक प्रवृत्ति शामिल हो सकती है जो जीव के अस्तित्व के लिए महत्वपूर्ण हैं जैसे भय, स्वच्छता और प्रेम आदि।


ड्राइव और आवश्यकताएं

आपके कई व्यवहार जैसे खाना, पीना और सोना जीव विज्ञान से प्रेरित हैं। आपको भोजन, पानी और नींद की जैविक आवश्यकता है।


इसलिए, आप खाने, पीने और सोने के लिए प्रेरित होते हैं। ड्राइव थ्योरी से पता चलता है कि लोगों के पास बेसिक जैविक ड्राइव हैं और व्यवहार इन ड्राइव को पूरा करने की आवश्यकता से प्रेरित होते हैं।


उत्तेजना का स्तर

प्रेरणा के उत्तेजना सिद्धांत से पता चलता है कि लोगों को ऐसे व्यवहारों में शामिल होने के लिए प्रेरित किया जाता है जो उन्हें अपने उत्तेजना के स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं।


कम उत्तेजना की आवश्यकता वाला व्यक्ति आराम की गतिविधियों का पीछा कर सकता है जैसे किताब पढ़ना, जबकि उच्च उत्तेजना की जरूरत वाले लोग हो सकते हैं मोटरसाइकिल रेसिंग जैसे रोमांचक, रोमांचकारी व्यवहारों में शामिल होने के लिए प्रेरित होना आदि।


प्रेरणा कैसे काम करती है? (How to Motivation Works)

प्रेरणा (Motivation) के बारे में दिलचस्प बात यह है कि यह काफी हद तक आंतरिक है।


अगर कोई चाहता है कि हमें कुछ एक्शन लेने के लिए प्रेरित किया जाए, तो वे हमें सबसे ज्यादा प्रभावित हमारी आंतरिक शक्ति ही कर सकती है।


उन्हें हमारी जरूरतों, भावनाओं और लक्ष्यों की कुंजी बनानी होगी। मार्केटर, सेल्स प्रोफेशनल्स, और राजनेता इसे अच्छी तरह समझते हैं।


आइए इस अवधारणा को आप पर लागू करने की कोशिश करें। यह समझ में आता है कि कोई भी आपको कुछ करने के लिए मजबूर नहीं कर सकता है।


कोई आपको यह नहीं बता सकता कि आपकी ज़रूरतें क्या हैं? और ना ही कोई इस बात पर ज़ोर दे सकते हैं कि आप चीज़ को महत्व देते हैं?


अंत में कोई आपको कुछ लक्ष्यों को पूरा करने की तीव्र इच्छा नहीं दे सकते है। आपकी प्रेरणा (ज़रूरतें, मूल्य और लक्ष्य) आपसे खुद से ही आती हैं।


जब कोई आपके बॉस की तरह चाहता है कि आप कुछ करें, तो आप उसका पालन कर सकते हैं क्योंकि उसके पास आप पर अधिकार है।


आपने वह किया जो वे चाहते थे इसका मतलब यह नहीं है कि आप इसे करने में खुश थे और ना ही, इसका मतलब यह है कि आप इसे करना ही चाहते थे।


कुछ करने की आपकी प्रेरणा आपके भीतर से आनी चाहिए! यह ऐसा कुछ होना चाहिए जो आप करना चाहते हैं। तथा यही सच है।


मोटिवेशन टिप्स (Motivation Tips)

सभी लोग अपनी प्रेरणा और इच्छाशक्ति में उतार-चढ़ाव का अनुभव करते हैं। कभी-कभी आप अपने लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए उत्साहित और अत्यधिक प्रेरित महसूस कर सकते हैं, जबकि अन्य समय में आप जो चाहते हैं या इसे कैसे प्राप्त करना चाहते हैं? उसके बारे में आप उदासीन महसूस कर सकते हैं।


अगर आप प्रेरणा (Motivation) कम महसूस कर रहे हैं, तो आप कुछ कदम उठा सकते हैं जो आपको आगे बढ़ने में मदद करेंगे। कुछ चीजें जो आप कर सकते हैं:

  • आपको उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है जो आपके लक्ष्यों को समायोजित करें और जो वास्तव में आपके लिए महत्वपूर्ण हैं।
  • यदि आप किसी ऐसी चीज पर काम कर रहे हैं जो बहुत बड़ी है, तो इसे छोटे छोटे टुकड़ो में तोड़ दें और अपनी प्रगति की ओर अपना पहला कदम प्राप्त करने के लिए अपनी दृष्टि स्थापित करने का प्रयास करें।
  • अपने आत्मविश्वास में सुधार करें या उसे बढ़ाये।
  • अपने आप को याद दिलाएं कि आपने अतीत में क्या हासिल किया और आपकी ताकत क्या है?
  • यदि आप ऐसी चीजें जिनके बारे में आप असुरक्षित महसूस करते हैं, तो उन क्षेत्रों में सुधार करने का प्रयास करें ताकि आप अपने आप को अधिक कुशल और सक्षम महसूस कर सके।
  • आप नए लक्ष्य निर्धारित करना जारी रखें। इस बारे में सोचें कि आप अगले हफ्ते, अगले महीने और अगले साल क्या हासिल करना चाहते हैं।
  • जब आपने कोई लक्ष्य पूरा कर लिया हो तो खुद को पुरस्कृत करें।
  • इस बारे में सोचें कि उस लक्ष्य को अपने जीवन में कैसे शामिल किया जाए, इसे पूरा करने के लिए आपको क्या करने की आवश्यकता है, और फिर उस पर एक समय सीमा निर्धारित करें।

प्रेरणा के प्रभाव (Impact of Motivation)

जिस किसी का भी कभी कोई लक्ष्य रहा हो। कुछ हासिल करने की इच्छा होना ही काफी नहीं है। इस तरह के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कई बाधाओं के बावजूद बने रहने की क्षमता और कठिनाइयों के बावजूद आगे बढ़ने के लिए धेर्य की आवश्यकता होती है।


प्रेरणा के तीन प्रमुख घटक हैं: सक्रियता, दृढ़ता और तीव्रता।


सक्रियता

सक्रियता में एक व्यवहार या लक्ष्य शुरू करने का निर्णय शामिल है, जैसे में आज सुबह 5 बजे उठूँगा।


दृढ़ता

दृढ़ता एक लक्ष्य की ओर निरंतर प्रयास है, भले ही कितनी बाधाएं मौजूद हों।


तीव्रता

एक लक्ष्य का पीछा करने में एकाग्रता और जोश में तीव्रता देखी जा सकती है।


प्रेरणा के इन घटकों में प्रत्येक बात इसको प्रभावित कर सकती है कि आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करते हैं या नहीं। उदाहरण के लिए, मजबूत सक्रियता का मतलब है कि आप एक लक्ष्य का पीछा करना शुरू करने की अधिक संभावना रखते हैं।


दृढ़ता और तीव्रता यह निर्धारित करेगी कि क्या आप उस लक्ष्य की ओर काम करना जारी रखते हैं और उस तक पहुँचने के लिए आप कितना प्रयास करते हैं।



माता-पिता से लेकर कार्यस्थल तक, जीवन के कई क्षेत्रों में प्रेरणा को समझना काफ़ी महत्वपूर्ण है। आप दूसरों को प्रेरित करने के साथ-साथ अपनी प्रेरणा बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम लक्ष्य निर्धारित करना और सही प्रणाली स्थापित करना चाहते हैं।


कारकों को प्रेरित करने और उनमें हेरफे करने के ज्ञान का उपयोग मार्केटिंग और औद्योगिक मनोविज्ञान के अन्य पहलुओं में किया जाता है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां कई मिथक हैं और हर कोई यह जानकर लाभान्वित हो सकता है कि क्या काम करता है और क्या नहीं।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने