लक्ष्य क्या है? तथा लक्ष्य जीवन में क्यों जरुरी है? | what is goal in Life in Hindi

सफ़लता का सिर्फ एक ही अर्थ है और वो लक्ष्य। सभी सफल लोग हमेशा लक्ष्य केंद्रित होते है। क्योंकि सफल लोग जानते है की वह क्या चाहते है और उनके जीवन का क्या लक्ष्य है।


लक्ष्य तय करना या बनाना ही आपकी सफ़लता की योग्यता है। लक्ष्य ही हमारे सकारात्मक सोच को जागृत करता है। और हमे हमारी मंजिल की ओर बढ़ने में मदद करता है। बिना लक्ष्य के आप अपने जीवन की लहरों में चढ़ते उतरते रहते है।


आपने अभी तक जो भी अपने जीवन में जो भी हासिल किया या पाया है, वह आपकी संभावना सिर्फ एक छोटा सा अंश है। सफलता का एक नियम है - इससे कोई फर्क नही पड़ता की आप कहां से आ रहे है बल्कि फर्क इससे पड़ता हैं कि आप कहां और किस दिशा में जा रहे है।


लक्ष्य क्या है? | What is goal in hindi

यदि आपके पास जीवन में स्पष्ट लक्ष्य है तो इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ता है। आपकी क्षमता का विकास होता है और आपके मोटिवेशन का स्तर बढ़ता है।


जीवन में आगे बढ़ने के लिए लक्ष्य निर्धारित करना क्यों आवश्यक है? (Importance of goal in your life in Hindi)

आपके मस्तिष्क में आपके जीवन के लिए हर वो चीज बनाने क्षमता है जिससे आप अपने जीवन को पहले से बेहतर बना सकते हो।


हम अपने आसपास जो भी चीज देखते है वह किसी इंसान के दिमाग में किसी विचार, इच्छा या अपने के रूप में आई होगी। और इस भौतिक जगत में साकार हुई होगी। क्योंकि आपके विचार और इच्छाएं रचनात्मक होते है। वे आपकी दुनिया और आपके साथ होने वाली हर चीज को आकार देता है।


हम ज्यादातर जिस चीज के बारे में सोचते हैं अंत में हम वही बन जाते है। हमारा बाहरी वातावरण हमारे अंदर के वातावरण का प्रतिबिंब बन जाता है। हमे वही प्रतिबिंब दिखाई देगा जिसके बारे में हम ज्यादातर समय सोचते है।


जब कई सफल लोगों से पूछा गया की आप ज्यादातर समय किसके बारे में सोचते है। तो उन सब का आम जवाब था की वे लोग ज्यादातर समय अपनी मनचाही चीज और उसे पाने के लिए सोचते है।


असफल और दुखी लोग ज्यादातर समय अनचाही चीजों के बारे में सोचते है और बात करते रहते है। वे लोग ज्यादातर समय अपनी समस्याओं तथा चिंताओं के बारे में सोचते रहते है और बात करते है। तथा इसके लिए वे दूसरों को दोष देते रहते है।


वही सफल लोग लक्ष्य केंद्रित होते है। और वे ज्यादातर समय उन चीज़ों के बारे में सोचते और बात करते है जिसे वे पाना चाहते है या अपने जीवन में हासिल करना चाहते है।


अपने लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित कैसे करें? (How to focus on your goal in Hindi)

आपने सुना होगा कि पुराने जमाने में कबूतर राजा महाराजाओं के संदेश लेकर जाते थे। सोचे अगर एक संदेशवाहक कबूतर को अपने बसेरे से बाहर निकाल कर एक पिंजरे में बंद कर दे। और उस पर कपड़ा ढककर उसे किसी वाहन के माध्यम से मिलो दूर ले जाकर उस कबूतर को पिंजरे से बाहर निकालें तो वह कबूतर दो तीन चक्कर लगायेगा। और जहां उसका बसेरा है उस और रवाना हो जायेगा और बिना किसी गलती के हजारों मील दूर अपने बसेरे पर पहुंच जाएगा।


इसी तरह इंसान में भी अपने लक्ष्य हासिल करने की योग्यता होती है। जब आपका लक्ष्य स्पष्ट होता है, तो आपको यह पता करने की जरूरत नहीं है की आपका लक्ष्य कहां है और इसे कैसे पाना है।


आपको बस यह फैसला करना है की आपको क्या पाना है। इतना फैसला करने से आप अपने लक्ष्य की ओर बढ़ने लगेंगे और आपका लक्ष्य भी आपकी और बढ़ने लगेगा। और एक सही समय और जगह पर आप और आपका लक्ष्य मिल जायेगा।


प्रकृति आपके लक्ष्यों के आकार के बारे में परवाह नही करती है। अगर आप अपने लिए छोटे लक्ष्य बनाते हैं तो, प्रकृति आपको छोटे लक्ष्य हासिल करने की क्षमता देती है। इसी तरह यदि आप अपने लिए बड़े लक्ष्य बनाते हैं तो प्रकृति आपको बड़े लक्ष्य हासिल करने की क्षमता देती है।


कई लोग अपने जीवन लक्ष्य क्यों नहीं बना पाते है? (4 reasons for not achieving your goals)

यदि लक्ष्य ऑटोमेटिक है तो कुछ लोग ही अपने लक्ष्य क्यों पूरे कर पाते है। बाकी लोग अपने लक्ष्य पूरे क्यों नही कर पाते है? हर किसी के पास ऐसे लक्ष्य क्यों नहीं होते जिनकी दिशा में वे हर दिन काम कर सके। यहां पर हम चार कारण बता रहे है की लोग अपने लक्ष्य क्यों नहीं बना पाते है?


1. अपने लक्ष्य को महत्व नहीं देना (not giving importance to your goal)

ज्यादातर लोगों को अपने लक्ष्य का अहसास ही नही होता हैं। अगर आप ऐसे घर में पैदा हुए है और पले बढ़े है। जहां किसी के पास कोई लक्ष्य नहीं है। और कभी लक्ष्य के बारे में बात ही नही होती है तो आप लक्ष्य की इस शक्ति से अनजान रह सकते है।


2. लक्ष्य कैसे बनाए जाते है? (how goals are created)

लोगो के पास लक्ष्य नहीं का दूसरा कारण है की उन्हे पता नहीं है की लक्ष्य कैसे बनाए जाते हैं। कई लोग सोचते है की हमारे पास पहले से ही लक्ष्य है। जबकि उनके पास सिर्फ इच्छाएं और सपने होते है। जैसे पैसा कमाना, खुश रहना, और अच्छा पारिवारिक जीवन जीना आदि। लेकिन इन्हें लक्ष्य नहीं कहा जा सकता है।


लक्ष्य इच्छा से अलग होता है। लक्ष्य हमेशा स्पष्ट और लिखित होना चाहिए जिसे जल्दी और आसानी से बताया जा सकता हो। जिसकी आप प्रगति नाप और देख सकते हो।


3. असफलता का डर (the fear of failure)

लोगों को अपने लक्ष्य पूरा नहीं करने का तीसरा कारण है असफलता का डर। यह भावनात्मक और आर्थिक दृष्टि से दुखदाई होता है। हर व्यक्ति जीवन में असफल जरूर होता है। हमे सर्तक रहना चाहिए और अपनी गलतियों से सीख लेनी चाहिए। तथा गलती ना करते हुए जीवन में आगे बढ़ते रहना चाहिए।


4. अस्वीकृति का डर (fear of rejection)

लोगो के पास लक्ष्य ना होने का चौथा कारण है, अस्वीकृति का डर। लोग इस बात से डरते है की यदि हमने कोई लक्ष्य बनाया और उस पर काम किया तथा सफल नहीं हो पाए तो दूसरे लोग उनकी हसीं उड़ायेंगे और उनकी आलोचना करेगें।


इसलिए हमे शुरुआत में अपने लक्ष्य किसी को बताने नहीं चाहिए। उन्हे सिर्फ परिणाम देखने दे पहले से कुछ बताने की जरूरत नहीं है।


खुशी के लिए लक्ष्य जरूरी है। (Goals are essential for happiness)

आप सच्ची खुशी तभी महसूस करते है, जब आप किसी महत्त्वपूर्ण चीज की और प्रगति कर रहे हो। किसी भी व्यक्ति के जीवन में लक्ष्य या उद्देश्य का होना बहुत जरूरी है।


जब आप अपने लक्ष्य की और बढ़ते है या प्रगति कर कर रहे होते है तो आप ज्यादा खुश और शाक्तिशाली महसूस करते है। आप अपने आप पर ज्यादा आत्मविश्वास महसूस करते है।


आपके लक्ष्य की ओर बढ़ा हर कदम आपके आत्मविश्वास बढ़ाता है। और अपने लिए आप भविष्य में बड़े लक्ष्य तय कर सकते है और उन्हें पूरा कर सकते हैं।


खुशी पाने के लिए लक्ष्य या जीवन का उद्देश्य होना जरूरी हैं। (Is happiness the ultimate goal in life)

आप जीवन में सच्ची खुशी तभी महसुस कर सकते है, जब आपके जीवन में एक महत्वपूर्ण लक्ष्य या उद्देश्य का होना बहुत जरूरी है। जिससे आप उस लक्ष्य या उद्देश्य की ओर प्रगति कर सके।


लक्ष्य आपको अर्थ और उद्देश्य दोनो का अहसास कराते है। आप लक्ष्य की दिशा में आगे बढ़ते रहने से आप ज्यादा खुश और शक्तिशाली महसूस करते है। आप खुद को ज्यादा ऊर्जावान और प्रभावी महसूस करने लगते है। जिससे आपका लक्ष्य के प्रति आत्मविश्वास बढ़ता है। जिससे आप भविष्य में बड़े लक्ष्य तय कर सकते हो और उन्हे पूरा कर सकते है।


आजकल कई लोग अपने भविष्य को लेकर चिंता करते है। लेकिन वे परिवर्तन या बदलाव से डरते है। लक्ष्य बनाने का फायदा ये है की आप अपने जीवन की परिवर्तन की दिशा को नियंत्रित कर सकते है। लक्ष्य होने पर आप अपनी जिंदगी के ज्यादातर परिवर्तन आप खुद तय कर सकते हो। लक्ष्य होने पर आप अपने काम को उदेश्यपूर्ण बना सकते हो।


लक्ष्य के प्रति स्पष्टता क्यों जरुरी है। (Why is it important to set goals)

आपके अंदर ऐसी क्षमता है जिससे आप चाहे जो हासिल कर सकते हो या जिसे आप पाना चाहते हो। आपकी आपके लक्ष्य के प्रति यह जिम्मेदारी होनी चाहिए की आप अपने लक्ष्य के प्रति स्पष्ट रहे। आप पूरी तरह से ये स्पष्ट करले की आप क्या चाहते हो और उसे किस तरह से हासिल कर सकते हो। आप अपने लक्ष्य के प्रति जितने स्पष्ट होंगे उस लक्ष्य को हासिल करने की संभावना भी उतनी ही ज्यादा होगी।


अपने लक्ष्य के प्रति अपनी इच्छा शक्ति कैसे विकसित करें? (How to develop your will power towards your goal)

लक्ष्य प्राप्त करने या पाने के लिए शुरुआती बिंदु है इच्छा शक्ति। अगर आप अपने लक्ष्य को हासिल करना चाहते हो तो आपको आपके लक्ष्य के प्रति इच्छा शक्ति विकसित करने की जरूरत है। आपकी इच्छा शक्ति आपको मुश्किलों से बाहर निकालने के लिए आपके अंदर जोश और ऊर्जा भरती है।


यदि आप किसी चीज को लंबे समय और प्रबल इच्छा शक्ति से चाहे तो आप उसे हासिल कर लेते है।


सफलता पाने के लिए दो चीजों का होना बहुत जरूरी है। पहली आपको ये पता होना चाहिए की आपको क्या करना है या आपका लक्ष्य क्या है। दूसरी आपको उस लक्ष्य को पाने या हासिल करने के लिए क्या क्या करना चाहिए।


सफलता के लिए लक्ष्य खुशी की कुंजी है। (Aiming for success is the key to happiness)

लक्ष्य तय करना, हर दिन उस लक्ष्य की दिशा में काम करना, तथा उन्हे अपनी जिंदगी में हासिल करना आपके लिए खुशी देता है। लक्ष्य तय करने में इतनी शक्ति है की आप उस लक्ष्य को पाने की दिशा में पहला कदम बढ़ाते है खुश हो जाते है। उस लक्ष्य की सोचने भर से आप खुश हो जाते है।


आपको हर दिन लक्ष्य तय करने और उसे पाने की आदत डालनी चाहिए। वो भी जिंदगी भर के लिए। आपका लक्ष्य के प्रति फोकस लेजर की तरह होना चाहिए। जिससे आप अनचाही चीजों की बजाय आप अपनी मन चाही चीज पा सके। आप इसी पल संकल्प करें और लक्ष्य तक पहुंचने वाले व्यक्ति बने।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने