30+ उम्र के बाद ये निर्णय जरूर लें | Future planning for life in hindi

तीस साल की उम्र तक पहुंचते पहुंचते हम अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा बीता चुके होते है। इसलिए इस उम्र तक हमे कई पैसे से जुड़े फैसले लेना जरूरी हो जाता है। हमे अब कुछ ऐसे निर्णय लेने की आवश्यकता है, जिससे हमारा भविष्य सुरक्षित और मज़बूत रहे।
Future planning for life in hindi - motivation hindi

तीस साल की उम्र तक आते आते कई लोगों को नौकरी करते हुए 2 - 3 साल हो चुके होते है। इस समय तक हमे पैसे बचाने और खर्च करने की समझ आने लगती है। इसी समय से अपनी नींव को मजबूती दे, ओर अपने आने वाले भविष्य के प्रति सजग हो जाए।

30+ उम्र के बाद ये निर्णय जरूर लें (Future planning for life in hindi)


1. बचत करने के बारे में सोचे (Think about saving in)

हम यदि नौकरी कर रहे होते है तो हमे हर महीने तनख्वाह मिलती है। और जैसे ही हमे तनख्वाह मिलती है तो हमे उसमे से कुछ हिस्सा बचत के रूप में अलग निकाल देना चाहिए। इस तरह की आदतें हमे हमारे भविष्य में आगे चलकर हमारे लिए बहुत मददगार साबित होती हैं। इसके लिए हम अलग एक नया बचत खाता खोल सकतें है। इसमें खाते में आप अपने बचाए गए पैसे रख सकते हो। ये पैसे आपके किसी मुश्किल समय या इन्वेसमेंट करने काम आ सकते है।



2. बाज़ार के उतार चढ़ाव को समझे (Understand market ups and downs)

इन्वेसमेंट या बचत के लिए बैंक का बचत खाता ही सही जगह नही है। यहां पर हमे ब्याज कम मिलता है। लेकिन बाजार में उतार चढ़ाव आता रहता है। जिससे हमारे पैसों की वैल्यू ज्यादा नहीं बढ़ पाती हैं इसलिए हमे अपने पैसे अच्छी ब्याज दर वाली एफ. डी, म्यूचुअल फंड में डालने पर विचार करें। जमीन जायदाद खरीदना एक अच्छा विकल्प होता है यदि आपके पास इतना पैसा हो तो।



3. अतिरिक्त आय के विकल्प खोजे (Find extra income options)

हमे अपनी नौकरी या व्यवसाय के साथ साथ ऐसा कोई पार्टटाइम काम ढूंढना या सोचना चाहिए, जिसे हम अपने खाली समय या छुट्टी के दिन आराम से कर सके और जिससे हम अच्छी extra income कर सके। यह आपकी इच्छा अनुसार कोई भी काम हो सकता है, जिसे आप अपनी प्रतिभा और कौशल से अपने उपलब्ध में अपनी इच्छा अनुसार चुन सकते हो।



4. अच्छी इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदें (Buy good insurance policy)

अभी मार्केट के कई इंश्योरेंस कंपनियां है। लेकिन हमे उनकी बड़ी बड़ी बातों या दावों की ओर आर्कषित नही होना है। हमे अपनी जरूरत के हिसाब से इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदनी चाहिए। इसके लिए आप ऑनलाइन या अलग अलग ऐजेंट से सलाह ले, और अपनी जरूरतों के अनुसार अपनी इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदें।



5. बड़ी रिस्क लेने से बचे (Avoid taking big risks)

हमे अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार ही रिस्क लेना चाहिए। जरूरत से ज्यादा रिस्क लेकर इन्वेसमेंट करने से हमारी रकम डूबने का खतरा रहता है। पैसों के मामले में बड़ा रिस्क लेने से पहले किसी अनुभवी वित्तीय सलाहकार से राय जरूर लेनी चाहिए। फिर भी हम रिस्क ले तो वह गणनात्मक रिस्क लेनी चाहिए।



6. किसी भी व्यक्ति को सोच समझकर उधार दे (lend to any person thoughtfully)

किसी भी समय किसी भी व्यक्ति को पैसों की जरूरत पड़ सकती है। हमारे दोस्तो या रिश्तेदारों को पैसों की जरूरत पड़ती है तो, हमे पैसे देकर भूलना नहीं चाहिए। हमे उन पैसों के बारे में कही लिखकर रखना चाहिए।



7. अपने लिए घर खरीदने की योजना बनाए (Make a home buying plan for yourself)

हम में से कई लोग शायद किराए के घर में रहते होंगे। कही पर किराया ज्यादा होता है, जिससे हमारा बहुत सारा पैसा किराए में चला जाता है। और रोज घर बदलने की समस्या रहती है इसलिए हमारे पास एक खुद घर होना बहुत जरूरी है। आप अपना खुद का घर या फ्लैट खरीदने में पैसा खर्च करना चाहिए। आप घर खरीदने के लिए होम लोन ले सकते हो। और धीरे धीरे करके आप लोन की ईएमआई भी भर लोगे। तो आपका खुद का एक घर होगा। और समय के साथ आपकी प्रॉपर्टी की वैल्यू भी बढ़ेगी। जिससे भी आपको ही फायदा होगा।



8. अपना मेडिकल इंश्योरेंस करवाए (Get your medical insurance)

आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में कब क्या हो जाए पता नहीं। और बीमारियां कहकर नही आती है। आजकल डॉक्टर की फीस, अस्पताल का खर्चा, दवाइयों का खर्चा इतना बढ़ गया है की छोटी मोटी बीमारियों या दुर्घटना हो जाने पर खर्चा हजारों या लाखो में पहुंच जाता है। इन सब से बचने के लिए हमे अपने लिए मेडिकल इंश्योरेंस जरूर करवाना चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने