सफलता क्या है? | What is success in hindi

हमें हमारा ध्यान उन चीजों पर केंद्रित करना चाहिए जिसे हम पाना चाहते है, ना कि उन चीज़ों पर जिन्हें हम नहीं पाना चाहते है। सफ़लता कोई लॉटरी नहीं है, जों आसानी से मिल जाए।

सफलता क्या है? | What is success in hindi

कई लोगों को लगता है कि सफ़लता अचानक मिल जाती है, ऐसे लोग सिर्फ किस्मत के भरोसे बैठे रहते है। आम आदमी अपनी सुरक्षा देखता है बल्कि असाधारण व्यक्ति अवसर को ढूंढता है।


सफ़लता क्या है?

सफ़लता या असफलता पर काफी रिसर्च हुई। सफ़ल लोगो के बारे में आप उनके बारे में जान कर पता लगा सकते हो। उनमें कई ऐसी आदतें समान रूप से पाई जाती है। चाहे वे किसी भी क्षेत्र में काम कर रहे हो।

यदि हम सफल लोगो के आदतों कि पहचान कर अपना ले, तो हम भी अपने जीवन में सफल हो सकते है। इसी तरह असफल लोगों की भी अपनी आदतें होती है, जिनसे हमें दूर रहना चाहिए।

सफ़लता कोई बहुत बड़ा रहस्य नहीं है, यह केवल अपने बुनियादी मूल्य का नतीजा होती है। हमारे जीवन में हो रही गलतियों से सीख लेकर आगे बढ़ना भी सफ़लता ही है।



लोग सफ़लता को कैसे परिभाषित करते हैं?

कई लोगों के लिए सफ़लता का मतलब सिर्फ दोलत, शोहरत, परिवार कि खुशी, आत्मसंतुष्टि, और मन कि शांति हो सकता है? इसका मतलब सफ़लता लोगों के लिए सिर्फ एक निजी चीज है। इसमें अलग अलग लोगों की अलग अलग राय हो सकती हैं।

सफ़लता लक्ष्य नहीं, बल्कि एक जीवन का सफर है। हम इस सफर में एक लक्ष्य तक नहीं पहुंचते बल्कि एक लक्ष्य पर पहुंचने के बाद हमारा सफ़र दूसरे लक्ष्य के लिए शुरू हो जाता है। और यही हमारे जीवन में चलता रहता है।

हमें अपनी सफ़लता का अनुभव बाहरी चीजों से नहीं बल्कि अपने अंदर कि चीजों के कारण आता है। सही लक्ष्य के बिना हमें सफ़लता नहीं मिल सकती है। हमारी सफ़लता का सफर हमारी गुणवत्ता पर निर्भर करता है।



अपनी सफ़लता के लिए आगे बढ़े

कोई भी व्यक्ति अपने जन्म से ही सबकुछ नहीं सीखता है। पर जब वो धीरे धीरे सीखना शुरू करता है, तो वह सबकुछ सीखता जाता है। जीवन में किसी भी क्षेत्र में सीखने के लिए अभ्यास करना बहुत जरूरी है।

जब हम कोई काम ही नहीं करेंगे तो हम सही या ग़लत परिणाम कैसे निकाल पायेंगे?

इसलिए जीवन किसी भी चीज के बारे में सीखने के लिए निरन्तर अभ्यास करना बहुत जरूरी है। और इस दौरान हम कई गलतियां भी करते है, हमें उन गलतियों से सीख लेकर, वो गलतियां करने से दुबारा बचा जा सकता है।



सफ़लता के लिए संघर्ष करें

हमारे जीवन में कभी अच्छे दिन आते है, इसी प्रकार कभी बुरे दिन भी आते है। अब ये हमारे ऊपर निर्भर करता है कि हम उनका सामना कैसे करते है। जीतने के लिए कोशिश करना बहुत जरूरी है। जीवन में कोई भी चीज संघर्ष किए बिना नहीं मिलती है।

हमें जीवन में आगे बढ़ने के लिए कई मुश्किलों ओर चुनौतियों से संघर्ष करना पड़ता है। कई बार इन मुश्किलों और चुनौतियों से सामना करते करते हम मायूस और निराश हो जाते हैं। हमें अपने जीवन में हताश और निराश नहीं होना चाहिए ओर हर समस्या, चुनौती, ओर मुश्किलों से सिख लेनी चाहिए। तथा जीवन में आगे बढ़ते रहना चाहिए।



सफ़लता की हर कहानी असफलता से होकर गुजरती हैं।

असफलता, सफ़लता पाने का मुख्य द्वार है। क्योंकि हमें जीवन में असफलता काफी कुछ सिखाती है।

अगर हमें अपने सफलता के रास्ते पर निराशा हाथ लगती है इसका मतलब यह नहीं है कि हम कोशिश करना छोड़ दें क्योंकि हर निराशा और असफलता के पीछे ही सफलता छिपी होती है।
- डॉ. A.P.J अब्दुल कलाम

अगर हम इतिहास में जाकर देखें तो हमे हर सफ़लता के पीछे असफलता जरूर मिलेगी। लेकिन कई सारे लोग है जो असफलता पर ध्यान नहीं देते है। और सोचते है क्या किस्मत मिली है।

कुछ सफल लोगो कि असफलताएं:-
  • थॉमस एडीसन बिजली का बल्ब बनाने से पहले हजारों बार असफल हुए थे।
  • हेनरी फोर्ड अपनी 40 साल कि उम्र में दिवालिया हो गए थे फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी और उनकी सफ़लता आज आप देख सकते हो।
  • अब्राहम लिंकन 21 साल कि उम्र में बिज़नेस मे असफल हो गए। 22 साल कि उम्र में चुनाव हार गए। 24 साल कि उम्र में फिर से बिज़नेस मे असफल है गए। 26 साल कि उम्र में उनकी पत्नी कि मृत्यु हो गई। 34 साल कि उम्र में फिर से चुनाव हार गए। 45 साल कि उम्र में फिर से चुनाव में हार मिली। 49 साल कि उम्र में उपराष्ट्रपति बनने में असफल रहे। और 52 साल कि उम्र में अमेरिका के राष्ट्रपति चुने गए थे।
ऐसे कई और असफलता के उदाहरण है। हमेशा अपनी असफलता को स्वीकार करे और उस असफलता से सीखते रहे तथा आगे बढ़े।
एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने