अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की प्रेरणा कैसे प्राप्त करें | How to get motivation to achieve your goal

लोग हमेशा अपने लक्ष्य पर काम करने के लिए सही समय या प्रेरणा का इंतजार करते रहते है। हालांकि अपना काम शुरू करने से पहले सही समय तथा सही प्रेरणा का इंतजार करना विश्वनीय तरीका है। यदि आप अपने लक्ष्य को पाने के लिए नियमित रूप से लगातार काम करते है।

अपने लक्ष्य को प्राप्त करने की प्रेरणा कैसे प्राप्त करें | How to get motivation to achieve your goal

ज्यादातर लोगों को पता ही नहीं होता है कि आपको काम करने कि प्रेरणा तब मिलती है जब आप काम कर रहे होते है। जितना ज्यादा समय आप अपने लक्ष्यों पर काम करते है, उतनी ही ज्यादा आप अपने लक्ष्य की और बढ़ते हैं। जिससे आपको काम करने कि ज्यादा से ज्यादा प्रेरणा मिलती हैं। और आपकी आपके लक्ष्य के प्रति अधिक प्रेरणा ओर प्रगति मिलती हैं।

आज हम आपको इस छोटी सी गाइड मे आपको बताना चाहते है कि किसी भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आप प्रेरणा कैसे प्राप्त कर सकते हैं।


1. अपने बड़े बड़े लक्ष्य के लिए छोटे छोटे लक्ष्य बनाए?

कई लोग कहते है की अपनी प्रेरणा के लिए छोटे लक्ष्य या बड़े लक्ष्य बनाने चाहिए, लेकिन असल बात तो ये है की छोटे और बड़े दोनों प्रकार के लक्ष्य जीवन में होना बहुत जरुरी है।

यहाँ पर दो कारण दिए गए है की छोटे और बड़े लक्ष्य दोनों क्यों जरुरी है?
  1. आपके सपने और लक्ष्य बड़े होने चाहिए ताकि आप अपने लक्ष्य पर काम करने के दौरान उत्साहित रहे।
  2. आप अपने बड़े लक्ष्य को पाने के लिए छोटे छोटे लक्ष्य बनाये ताकि आपको पता चल सके की आप अपने लक्ष्य की और प्रगतिशील है।

यानि की आपके पास ऐसे लक्ष्य होने चाहिए जो आपको उत्साहित करें और ऐसे लक्ष्य आपको बताते है की आप प्रगति कर रहे है।

जब आपके पास ऐसे लक्ष्य होते है तो आपको पता चलता है की आप प्रगति कर रहे है, जो ये दर्शाते है की आप अपना काम हो आप अपना समय बर्बाद नहीं कर रहे हो तथा आप आपके बड़े सपने के करीब पहुंच रहे हो।

अगर आप इनमे से एक पर भी चूक कर रहे हो तो एक समस्या है, यदि आपके पास केवल बड़ा लक्ष्य ही है तो आप बहुत ही कम समय में अपनी प्रेरणा खो देंगे। और आप अपने लक्ष्य की और प्रगति नहीं कर पाओगे।

सबसे पहले आप अपने बड़े लक्ष्य को ढूंढे और उस बड़े लक्ष्य को छोटे छोटे लक्ष्य में विभाजित करें। धीरे धीरे आपको स्वतः ही पता लग जायेगा की आप अपने लक्ष्य की और प्रगति कर रहे है।


2. अपनी प्रगति की समय समय पर जाँच करें?

हमें अपने लक्ष्य की प्रगति और परिणाम को देखने से अपने लक्ष्य के प्रति प्रेरणा मिलती है। जिसका मतलब है की आप अपने लक्ष्य पर काम कर रहे है। जिससे आपको पता चलेगा की आप अपने लक्ष्य के कितने करीब पहुंच रहे है।

क्या आप अपने लक्ष्य की प्रगति की जाँच कर रहे है?

जब आप इस तरह की चीजे करेंगे तो आप पहले से सामान्य महसूस करेंगे क्योकि जब आपको भौतिक परिणाम मिलेंगे तो आप अपने पिछले विचारों और प्रगति के आधार पर आप अपने अंदर व्यक्तिगत बदलाव महसूस करेंगे।

इसलिए आप अपने लक्ष्य पर काम करने के दौरान अपने काम को किसी नोटबुक या कागज पर लिखते रहे और उसका रिकॉर्ड तैयार करें।

रिकॉर्ड होने से आप ये देख सकते है की आपने क्या काम किया है और कोनसा काम नहीं किया है। अपने लक्ष्य के परिणामों को देखने से आपको ये महसुस होता है की आप अपने काम को ओर किस तरह से बेहतर कर सकते हो। जब आप अपने परिणामों को देखना शुरू करते हो तो आप अपने लक्ष्य के प्रति और अधिक उत्साहित होते हो।


3. अपनी हर छोटी सफलता का जश्न मनाये?

हम में से कई लोग अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने लक्ष्य की प्रगति पर ध्यान रखते है। तथा कई लोग अपनी छोटी जीत का भी जश्न मानते है। जश्न मनाना यह हमारे लक्ष्य को प्राप्त करने की नींव का निर्माण करता है।

आप भी अपनी छोटी जीत का मनाना शुरू करते है तो आप खुद को एक सकारात्मक ढांचे में दाल रहे है। जहाँ आप अपने आप को पुरस्कृत कर रहे है। यह आपके लिए एक शक्तिशाली उपकरण साबित हो सकता है। आप अपने बड़े लक्ष्य पर निरंतर बने रहे और अपनी हर छोटी जीत का जश्न मनाते रहे। अंततः आप अपनी बड़ी जीत की और बढ़ जायेंगे।


4. अपने अंदर का क्यों खोजे?

नए साल पर कई लोग संकल्प लेते है और कुछ समय काम करने के बाद इस पर अचानक काम करना छोड़ देते है। कई लोग अपने खुद के व्यवसाय के प्रति ज्यादा पैसा कमाना, अपने शरीर, ओर अपने सपनों का काम करने के लिए काफी उत्साहित रहते है। लेकिन जब खुद को बदलने कि बारी आती है तो वे अपने लक्ष्य पर काम करने छोड़ देते है।

ऐसा इस कारण होता है कि उन्हे बदलने कि कोशिश करने का दर्द उनके कम्फर्ट ज़ोन में रहने कि खुशी अधिक होती है। आपको अपने अंदर का "क्यों" ढूंढने कि जरूरत है। लेकिन कई लोगो को इस कारण क्यों दर्द होता है, ये हमें नहीं पता।

जब भी आप अपनी किसी बुरी आदत को बदलने कि कोशिश कर रहे हो तो आपको यह प्रश्न अपने आप से जरूर करना चाहिए। आपके लिए चीजे कठिन हो जाएगी क्योंकि हर दिन सही काम करने में लगातार रहना बहुत कठिन होता है।

अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्रेरणा का इंतजार करना अविश्वनीय तरीका है। बल्कि सच्ची प्रेरणा प्रगति ओर परिणाम देखने से आती है। जब आप अपने लक्ष्य पर काम करना शुरू करते हो।

वास्तविक प्रेरणा बनाने का तरीका अपने लिए छोटे और बड़े लक्ष्य बनाना ओर उन्हे पाने के लिए उनकी प्रगति का अवलोकन करना है। अपनी प्रेरणा बनाए रखने के लिए अपनी छोटी छोटी सफ़लता को जश्न मनाते रहे। और जब चीजे कठिन हो जाती है तो अपने अंदर का क्यों ढूंढे। जिससे आप खुद को बदल सको।

Post a Comment

नया पेज पुराने